रविवार, 19 नवंबर 2017

सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 20 वां व 21 वां सप्ताह (2 नवंबर 2017 से 15 नवबंर 2017)

यदि आप नये पाठक है आपने पहले भाग से इस कहानी को नहीं पढा है तो मेरा निवेदन है कि पहले भाग से पढना प्रारभं करें पहले भाग का लिंक हैः- सीमा कौशिक ने मेरी पुस्तक से अपना शेयर बाजार का रिस्क फ्री डायवर्सिफाईड पोर्टफोलियो कैसे बनाया 
1. इस सप्ताह 3 नवम्बर 2017 को जैन इरीगेशन के शेयर वापस 200 डीएमए से 5 प्रतिशत उपर बंद हो गये ये शेयर इसलिये हमने पूर्व में हमारे रिवर्स ट्रेडिंग में बेचे हुये 59 शेयर 109.75 के मूल्य पर वापस लेकर ब्रोकरेज सहित 6524.28 का निवेश किया ये नया निवेश नहीं है ये वो शेयर वापस लिये हैं जो हमने रिवर्स ट्रेड कर रखे थे 
ऐसा जैन इरीगेशन में दुसरी बार किया है हम एक बार पहले भी जैन इरीगेशन इसी प्रकार बेचकर वापस ले चुके हैं। 
दरअसल शेयर कितना भी चकमा देकर उपर नीचे जाये पर रिवर्स ट्रेडिंग करने वालों के साथ वो हालत नहीं होगें जो आर कोम वालों के हुये हैं अब मेरे पास ई मेल आना चालु हो गये हैं जैसे महेश सर आर कोम में क्या करें 19000 शेयर 20.36 के भाव पर लिये थे अब 10 का प्राईस हो गया है। ऐसे निवेशक पहली बात तो ये सिद्वान्त मानते होते कि 200 डीएमए के नीचे कोई शेयर खरीदना ही नहीं हैं तो जब आर कोम की 200 डीएमए 26 रूपये के आसपास है तब वो 20.36 पर ये शेयर खरीदते ही नहीं। जिन्होने आर कोम 35 या 40 पर लिये थे वो भी 30 पर जब उसकी 200 डीएमए थी और वो 28 पर बंद हुआ था तब रिवर्स ट्रेड करके बेच कर निकल जाते तो आज 10 रूपये का भाव देखकर उनका खुन नहीं जलता। वैसे आर कोम अभी भी फयूचर एण्ड आॅप्शन में ट्रेड हो रहा है इसलिये हो सकता है इसमें खूब सारी शाॅर्ट पोजीशन बनी हो ये जब शाॅर्ट वाले कवर करेगें तब थोड़ा तेजी इसमें आ भी सकती है। 
जैन इरीगेशन वापस लेने का सबूत इस स्क्रीनशाॅट में देख सकतें हैं आपः- 
2. इस सप्ताह 7 नवबंर 2017 को वो स्थिति आयी जब एमएमटीसी के शेयर में पिछली रिवर्स ट्रेडिंग में हुये नुकसान की पूर्ति करते हुये हमें 20 प्रतिशत मुनाफा हो रहा था मैं आपको सारी कहानी वापस याद दिलाता हुं सबसे पहले हमनें एमएमटीसी 27 जुलाई को 103 शेयर 63 के भाव पर खरीद कर ब्रोकरेज के साथ 6538.12 का निवेश किया था। 
फिर ये शेयर 16 अगस्त 2017 को अपनी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत नीचे बंद हो गये तो हमने 56.35 के भाव बेचकर ब्रोकरेज कम करके अपनी बची हुयी राशि 5756.25 वापस ले ली हमने इस बची हुयी राशि का 2.5 महिने तक इस्तेमाल किया। 
तब 30 अक्टूम्बर 2017 को एमएमटीसी का शेयर वापस उसकी 200 डीएमए से 5 प्रतिशत उपर बंद हो गया तो हमने 66 के मूल्य पर वही 103 शेयर वापस लेकर 6850.17 का निवेश कर दिया अर्थात हमें 6850.17-5756.25 करने पर 1093.92 रूपये का ही नया निवेश करना पड़ा। 
अब हमारा टारगेट क्या था? 
 हमने एमएमटीसी के शेयर बेचकर रिवर्स ट्रेडींग में जो नुकसान किया था वो 6538.12-5756.25 अर्थात 781.17 रूपये का नुकसान हुआ था यदि 103 शेयर होने से प्रतिशेयर नुकसान निकालें तो हमने रिवर्स ट्रेड में 781.17/103= 7.59 रूपये प्रतिशेयर का नुकसान बुक किया था 
अब 66 पर नये शेयर खरीदे तो इनका टारगेट पहले तो 66 का 20 प्रतिशत उपर अर्थात 79.20 प्रतिशेयर बना अब इसमें रिवर्स ट्रेड का नुकसान 7.59 जोड़ने पर अतिंम टारगेट 86.79 बनता है अर्थात ये 66 पर खरीदे शेयर वापस 86.79 में बेचते तो हमें 20 प्रतिशत मुनाफा भी मिलता व रिवर्स ट्रेड में हुआ 781.17 का नुकसान भी वापस मिल जाता। 
हम भाग्यशाली रहे 30 अक्टूम्बर 2017 को वापस खरीदे शेयरों में 8 दिन में ही वो स्थिती आ गयी कि हमें 86.79 से उपर भाव मिल गया यहां 7 नवबंर को शेयर खुला ही 98.80 पर था पर जब तक सीमा ने बेचा भाव 96.70 थे इससे सीमा को 9883.92 रूपये वापस मिल गये अर्थात लगभग 3000 रूपये का फायदा हुआ ये सारा रायता इस स्क्रीनशोट में समझियेः-
 अब कहानी का ज्यादा विस्तार नहीं करूंगा आप भी बोर हो गये होगें। पिछले दो सप्ताहों में नये लिये गये 8 नवबंर 2017 को शेयर रेंक 20 का शेयर ट्राईडेन्ट लिमिटेड 71 शेयर 91.95 के भाव पर लिये तथा 15 नवबंर 2017 को शिपीगं कोरपोरेशन आफ इण्डिया के 72 शेयर 89.70 के मूल्य पर लिये जिसका स्क्रीनशोट देखियेः-
एक बात और भी है जो यहां बतानी है वो ये है कि सुप्रीम पैट्रो के जो हमारे पास 18 शेयर थे उनमें 2 नवबंर की रेकार्ड डेट को 1 रूपया प्रति शेयर से कुल 18 रूपये डीविडेंड मिलेगा जिसको बैलेंस शीट में अभी तक प्राप्त डीविडेंड में शामिल किया जा रहा है क्यों कि बूदं बूंद करके घड़ा भरता है।
अब सीधे 15 नवबंर की बैलेंस शीट आपको दिखायी जा रही है।
अब सीधे 15 नवबंर की बैलेंस शीट आपको दिखायी जा रही हैः- 

जिन भाईयों को ये नहीं पता कि मेरी हिन्दी की नयी पुस्तककैसे पहुँचा अब्दुल शेयर बाजार में शून्य से शिखर तक आ चुकी है वो इस लिंक पर पढेंः-
कैसे पहुँचा अब्दुल शेयर बाजार में शून्य से शिखर तक
Print book link:-
https://pothi.com/pothi/node/192792

Next:-शेयर बाजार के बन्दरों की कहानी /सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 22 वां सप्ताह (16 नवंबर 2017 से 22 नवबंर 2017)

एक टिप्पणी भेजें

Matched Content