सोमवार, 27 नवंबर 2017

शेयर बाजार के बन्दरों की कहानी /सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 22 वां सप्ताह (16 नवंबर 2017 से 22 नवबंर 2017)

यदि आप नये पाठक है आपने पहले भाग से इस कहानी को नहीं पढा है तो मेरा निवेदन है कि पहले भाग से पढना प्रारभं करें पहले भाग का लिंक हैः-
इस सप्ताह निम्न चित्र के अनुसार शेयरों की रेकंवार 200 डीएमए से स्थिति चैक करने पर Rank#8 राजेश एक्सर्पोट का शेयर उसकी 200 डीएमए से 14.70 प्रतिशत उपर ट्रेड कर रहा था:-

इनमें से जो शेयर हरे रंग में दिखायें हैं वो हमारे पास होल्ड है पीले रंग वाले में हम बेचकर प्रोफिट बुक कर चुके हैं तथा लाल रंग वालों में हमने रिवर्स ट्रेड कर रखी है।इसलिए इस सप्ताह राजेश एक्सर्पोट के 8 शेयर 761 के भाव पर लेकर 6136.24 का नया निवेश किया इस ट्रेड बुक में देखिये:-
इस सप्ताह में इतनी सी कहानी बताउंगा तो आपको कुछ नया सीखने का मजा नहीं आयेगा तो इसलिए आपको शेयर बाजार के बन्दरों की कहानी सुनातें हैं।
मेरे पास ऐसे ई-मेल सबसे ज्यादा आते हैं कि महेश सर मैने शेयर XYZ की नेट सेल प्रति शेयर चैक की तो वो 79.70 आयी शेयर XYZ अभी 890.75 पर ट्रेड कर रहा है ऐसा कैसे सभंव है मेरे से गणना में क्या गलती हुयी है?
पहली बात तो आप ये ध्यान रखें कि शेयर की नेट सेल प्रति शेयर 79.70 रूपये है तथा वो इससे नीचे के मूल्य पर ट्रेड  कर रहा है तो इसका अर्थ यह है कि शेयर अडंरवैल्यूड है तथा उपर ट्रेड  कर रहा है तो शेयर ओवरवैल्यूड है पर इसका अर्थ ये कदापि नहीं है कि शेयर उसकी नेट सेल प्रति शेयर से ज्यादा उपर ट्रेड  ही नहीं कर सकता। 
ज्यादातर शेयर जब मार्केट बुल रन में होता है तो तेजी पकड़ लेते हैं तथा ये नेट सेल पर शेयर से कितने भी उपर जा सकते हैं।
ऐसे शेयरों को खरीदते समय आपको मेरी बन्दरों की कहानी याद रखनी है कि आप शेयर खरीदें बन्दर नहीं खरीदें।
तो अब आप बन्दरों की कहानी सुनें।
एक गांव में एक कपंनी का ओफिस खुला उस कपंनी ने ग्राम वालों को कहा "प्रिय ग्राम वासियो हम बंदर के बालों से एक दवाई बनातें हैं इसके लिए बदंर की पीठ के थोडे़ से बाल ही काम में आते हैं आप हमारे को बंदर पकड कर लाकर दो तथा प्रति बंदर 500 रूपये ले लो। ग्राम वालों ने एक दो बंदर पकड़े तथा 500-500 रूपये के हिसाब से कपंनी को दे दिये कपंनी ने इनको एक पिजरें में डाल दिया ।
ग्राम के दूसरे लोगों को भी बिजनेस सरल लगा उन्होनें भी बंदर पकड़-पकड़ के 500 रूपये कमाना चालु कर दिया कपंनी लेती गयी पीठ के थोडे़ से बाल काट कर पिजरें में डालती गयी।
अब बंदर कम पड़ गये कपंनी बोली अब आपको 1000-1000 रूपये बंदर के देगें । ग्राम वालों में लालच बढ़ गया वो सारे काम धंधे छोड़ कर सारे दिन बन्दरों की तलाश करने लगे जैसे आप और मैं शेयरों का तलाश करते हैं। 
जब बंदर लगभग खत्म हो गये तब कपंनी ने कहा आप हमारे से बाल कटे बंदर 1500-1500 में ले लो इनको खिलाओ पिलाओ जब पीठ के बाल वापस उग जाये तब 3000-3000 में आपसे वापस ले लेगें। ग्राम वाले लाईन में लग गये पिजरें में एक-एक बन्दर 1500-1500 देकर ले जाने लग गये। कुछ मेरे जैसे ज्यादा होशियार थे वो तो बोले कंपनी भाग जायेगी इसलिए उन्होने बंदर नहीं लिये ।
परन्तु चमत्कार हो गया 7 दिन बाद कपंनी ने बदरों की पीठ में थोडे़ बाल देखकर वापस 3000-3000 में वो बदंर ले लिये तथा कहा आप इनको 3500-3500 में वापस खरीद लो सात दिन खिलाओ पिलाओ इनके बाल उगाओ अबके हम 5000-5000 में वापस ले लेगें।
अब के मेरे जैसे ज्यादा शयानें भी बन्दर ले गये तथा कपंनी ब्लूचिप थी उसने सबको 5000-5000 देकर बंदर वापस खरीद लिये।
अब कपंनी ने कहा आप चाहें तो 5500-5500 रूपये में बंदर वापस ले सकते हैं सात दिन खिला पिला के बाल उगा के दे देना हम अबके 10000-10000 रूपये देकर वापस लेगें क्योंकि अतंराष्ट्रीय मार्केट में इनके बालों की मांग बहुत बढ़ गयी है।
लोगों में होड़ मच गयी जैसी आज कल डी-मैट खाते खुलवाने की होड़ मची हुयी है कपंनी के बन्दरों का सारा स्टाॅक 5500-5500 रूपये में चला गया। लोग बन्दरों को खुब केले, चने खिला रहे थे रोज उनके बाल चैक कर रहे थे अबके जब बेचने गये तब कपंनी के कार्यालय पर ताला लटक गया था।
तो भाईयों आप चाहे नेट सेल पर शेयर से जितना भी उपर शेयर खरीदना पर बन्दर नहीं ले लेवें इसका ध्यान रखना नहीं तो ऐसे बन्दर वापस नहीं बिकेंगे 
 इस सप्ताह 22 Nov 2017 मार्केट बंद होेेने पर सीमा की बैलेंस शीट देखिये:-


जिन पाठको ने मेरी पुस्तक ” कैसे पहुॅंचा अब्दुल शेयर बाजार में शून्य से शिखर तक ” अभी तक नहीं ली है वो अब छपी हुयी पुस्तक (पेपरबैक संस्करण) 399 रूपये में फ्लीपकार्ट व अमेजन से भी ले सकतें हैं जिसका लिंक हैः-
फ्लीपकार्ट का लिंक:- Kese Pahuncha Abdul Share Bazar Main Shunya Se Shikhar Tak (Hindi Edition)
सादर ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

your comment increase quality of my work and also provide a comunication with you and me

Matched Content