सोमवार, 16 अक्तूबर 2017

सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 16 वां सप्ताह (5 अक्टूम्बर 2017 से 11 अक्टूम्बर 2017)

इस भाग में आपको 5 अक्टूम्बर 2017 से 11 अक्टूम्बर 2017 तक की  कहानी बतायी जायेगी दरअसल प्रत्येक बुधवार हमने शेयर लेने के लिये निर्धारित किया हुआ है तथा रविवार को कहानी ब्लोग पर अपडेट करने का शेड्यूल बनाया हुआ हैै।
यदि आपने पहले भाग से इस कहानी को नहीं पढा है तो मेरा निवेदन है कि पहले भाग से पढना प्रारभं करें पहले भाग का लिंक हैः-
इस सप्ताह हमने दो शेयरों में उनका टारगेट प्राईस खरीद मूल्य से 20 प्रतिशत उपर प्राप्त हो जाने से मुनाफा बुक कर लिया।
वो दोनो शेयर इस प्रकार से हैंः-
1. BASF India Ltd जो हमने 23 अगस्त 2017 को खरीदे थे इनका हमारा खरीद मूल्य 1420 रूपये था जो आप पिछले भागों में पढ चुके हैं। 9 अक्टूम्बर को इसे 1772.50 के भाव पर बेचकर प्रति शेयर 352.50 का मुनाफा कमाया हमारे पास कुल 5 शेयर BASF India थे इस प्रकार 9 अक्टूम्बर को हमें 1762.50 रूपये का मुनाफा हुआ परन्तु इसमें से खरीदने व बेचने का ब्रोकरेज कम करें तो हमें वास्तविक लाभ 1640.87 रूपये का ही हुआ ।
2. दुसरा मुनाफा HSIL में बुक किया इसके शेयर हमने 381.95 के भाव पर 17 शेयर लिये थे इसको हमने 468.90 के भाव पर बेचा अर्थात हमें ब्रोकरेज के बाद इसमें 1317.21 रूपये का लाभ हुआ।
कुल मिलाकर इस सप्ताह सीमा कौशिक ने शेयर बाजार से 2958.08 रूपये कमाये आप कह सकते हैं कि इन 2958.08 पर 15 प्रतिशत शोर्ट टर्म कैपिटल गैन टैक्स के लगभग 600 रूपये भी तो भरने पड़ेगें पर ऐसे कहने वालों का अर्थ है कि उन्होने इस कहानी के पिछले सभी 15 भागों को ध्यान से नहीं पढा है इन सभी भागों को भाग एक से शुरू करके वापस पढिये यदि आप भुल गये हैं तो ये शोर्ट टर्म में बुक मुनाफा रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में बुक किये गये शोर्ट टर्म कैपिटल लोस में एडजस्ट किया जा सकता है एडजस्टमेंट के बाद जो नेट मुनाफा बचेगा उसी पर शोर्ट टर्म कैपिटल गैन टैक्स देना है । 
यही कारण है कि हम रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम प्रयोग करते हुये डरते नही क्यों कि रिवर्स ट्रेडिंग करके बेचे हुये शेयरों में यदि वास्तव में कोई दमखम होगा तो वो जैसे ही उनकी 200 डीएमए से उपर आयेगें हम उन्हें वापस ले लेगें।
मैं आपकी जानकारी के लिये पुरे सप्ताह की ट्रेड बुक का स्क्रीनशोट एक साथ दे रहा हुंः-

इस सप्ताह नयी खरीददारी के लियें काफी मशक्कत करने के बाद रेंक 32 का शेयर बलरामपुर चीनी ऐसा शेयर मिला जो उसकी 200 दिन की मूविगं ऐवरेज से 14.32 प्रतिशत उपर ट्रेड कर रहा था तो हमने बलरामपुर चीनी के 39 शेयर 165.80 के भाव पर ले लिये जो आप उपर की ट्रेड बुक में देख सकते हैं।
अब आपको ये आश्चर्य भी हो रहा होगा कि ट्रेड बुक में तीन शेयर और भी दिख रहे हैं उनकी क्या कहानी है ये तीन शेयर है धुनसेरी पैट्रोकैमिकल सतलुज जल विधुत निगम लिमिटेड व कैन्टाबिल रिटेल लिमिटेड असल में आप जानते ही हैं कि मैं और मेरी पत्नी स्वयं भी उन्ही शेयरों में निवेश करते हैं जिनकी मैं सलाह देता हुं।
आप मेरे ब्लोग पर निम्न लिंक पर जायेगें तो आप देखेगें कि 8 नवम्बर 2014 में मैने धुनसेरी पैट्रो का शेयर 89.40 पैसे पर रिकमांड किया था:-

सीमा ने उस समय 10 नवम्बर 2014 को 32 शेयर 91 रूपये के भाव पर खरीदे थे चूंकि उस समय सीमा मेरे से उधार लिये गये 50000 रूपयों से शेयरों में निवेश करती थी इसलिये उसका लोट साईज कम था तथा वो एक शेयर में 2900 रूपये का अधिकतम निवेश करती थी।
2014 में मैं केवल फंडामेंटल आधार में विश्वास करता था तथा टैक्नीकल बिन्दूओं जैसे 200 डीएमए को अपनी रिसर्च रिर्पोट में स्थान नहीं देता था पर जब धुनसेरी पैट्रो जैसी मजबुत रिकमांडेशन भी फेल हुयी तब मैने माना की 200 डीएमए के बिन्दू को भी फंडामेंटल के साथ स्थान देना चाहिये आपको मैं एक एक्सेल सीट उपलब्ध करवा रहा  हुं जिसमें धुनसेरी पैट्रो के वर्ष 2014 से आज तक के भाव व उसकी 200 डीएमए है आप इस लिंक से शीट डाउनलोड कर लेवेंः-
आप देखेगें कि जब 8 नवबंर 2014 को शेयर 89.50 पर रिकमांड किया गया था तब उसकी 200 डीएमए 122.37 थी अर्थात शेयर पहले से उसकी 200 डीएमए से बहुत नीचे ट्रेड कर रहा था तब रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम की तो बात ही नहीं थी शेयर गिरते हुये 43 रूपये भी हो गया सीमा की निवेशित पूंजी 2900 रूपये अब आधे से भी कम हो गयी थी परन्तु उसे अपने पति की शोध पर विश्वास था तथा वो मेरी पहली पुस्तक में बतायी गयी शोपकीपर एप्रोच से शेयर को होल्ड करती रही।
आप उपर की सीट में 30 जुन 2015 को देखिये तब शेयर की 200 डीएमए 77.89 थी तथा शेयर 82.15 पर बंद हुआ था तब उसको खरीदने का सही समय था उसके बाद शेयर 10 अगस्त 2015 को 113 रूपये पर भी गया परन्तु तब सीमा को मैने बेचने नहीं दिया मैने मेरी होशियारी बतायी कि शेयर की नेट सेल पर शेयर बहुत ज्यादा है जल्दबाजी मत करो इतना कम मुनाफा मत कमाओ ये तो बहुत उपर तक जायेगा।
और नतीजा मैरे पर ज्यादा विश्वास करने वाले पहले भी भोग चुके हैं कि शेयर वापस गिर गया तथा 27 जनवरी 2016 को वापस उसकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत से ज्यादा नीचे 77 रूपये तक गिर गया परन्तु सीमा ने रिवर्स ट्रेडिंग नहीं की क्यों कि मैं बता चुका हुं कि रिवर्स ट्रेडिंग के स्थान पर हम होल्ड ही करते हैं क्यों कि ज्यादा शेयर होने से सबको ट्रेक करना मुश्किल होता है।
ऐसे उपर नीचे गोते खाते खाते अबके जब धुनसेरी का शेयर 121.50 तक आ गया तो सीमा ने तीन साल से होल्ड उस शेयर में 32 प्रतिशत मुनाफा लेकर जान छुड़ायी आप समझ गये होगें कि अबके मेरी भी हिम्मत नहीं हुयी कि मैं उसको और होल्ड करने की सलाह दे सकूं।
इसी प्रकार उपर जो सतलुज जल विधुत निगम लिमिटेड व कैन्टाबिल रिटेल के शेयर लिये हैं वो मेरी ऐप रिकमांडेशन है आप देख सकते हैं कैसे हम सेबी के नियमों की पालना में हमारे खुद की रिकमांडेशन में कम से कम 5 ट्रेडिंग सेशन निवेश नहीं करते उसके बाद भी हमने थोड़े दिन ठडां होने दिया तथा जब ये श्योर हो गये कि ये अपनी 200 डीएमए से नीचे नहीं गिरे तब रिकमांडेशन प्राईस से भी कम पर ये शेयर हमने खरीद लिये इससे उनको सीखना चाहिये जो ये शिकायत करते हैं कि मेरे बताये शेयर जल्दी भाग जाने से वो ले ही नहीं पाते।
तो इस सप्ताह 11 अक्टूम्बर को मार्केट बंद होने के बाद सीमा की बैलेंस शीट निम्न प्रकार से थीः-

भाईयो कमेंट करने के पैसे नहीं लग रहे आपके पर आपके कमेंट पढकर मुझे बहुत खुशी होती है तथा नकारात्मक कमेंट भी हो तो मुझे सुधार करने का मौका मिलता है 
चलते चलते थोड़ा सीमा की रसोई का विज्ञापन कर दुं  उसने अपनी सीमा की रसोई की एप भी मेरी एप की तरह बनवायी है देसी घरेलु खाने के शौकिन मेर फोलोवर मेरी पत्नी जी कि इस एप को निम्न लिंक से इन्स्टाॅल कर लेगें तो उसको खुशी होगीः-

सोमवार, 9 अक्तूबर 2017

सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 15 वां सप्ताह

 इस भाग में आपको 28 सितम्बर से 04 अक्टूम्बर तक की कहानी बतायी जायेगी दरअसल प्रत्येक बुधवार हमने शेयर लेने के लिये निर्धारित किया हुआ है तथा रविवार को कहानी ब्लोग पर अपडेट करने का शेड्यूल बनाया हुआ हैै। यदि आपने पहले भाग से इस कहानी को नहीं पढा है तो मेरा निवेदन है कि पहले भाग से पढना प्रारभं करें पहले भाग का लिंक हैः- 
इस बार 29 सितम्बर को हमें स्टील आथोरटी एंव इण्डिया लिमिटेड एंव जैन इरीगेशन दोनो के शेयरों के उनके 200 डीएमए के 5 प्रतिशत नीचे बंद हो जाने से वापस रिवर्स ट्रेड करना पड़ा। 
हाल की के दिनों में मेरे फोलोवरस सबसे ज्यादा मुझसे नाराज इस रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम से ही हुये हैं क्यों कि मुझे उनके नाराजगी के कमेंटस एंव ई मेल मिलते रहते हैं बात भी सही है यदि इस प्रकार छोटे से अप डाउन में रिवर्स ट्रेड करते रहे तो कमायेगें क्या? 
आप चाहें तो रिवर्स ट्रेड नहीं करके शेयर को सिम्पली होल्ड करके रख सकते हैं परन्तु यहां पुस्तक में बताये गये नियमों की मर्यादा बनाये रखने के लिये रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम जारी रहेगा आप जब पुरे वर्ष भर की कहानी देखेगें तब आपको इसका क्या महत्व है ये समझ में आने लगेगा अभी मार्केट में बड़ी व लम्बी गिरावट नहीं आयी है इसलिये ये सिस्टम अभी तो बेकार ही दिखेगा। 
कल के वाली रिसर्च रिपोर्ट में जो रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में सुधार के बारे में लिखा है वो मेरी रिसर्च रिर्पोटों में बताये गये शेयरों के बारे में है क्यों कि वहां हम वो ही शेयर बताते हैं जिनमें सालाना उच्चतर व निम्नतर स्तर 2 या 2.5 से कम होता है परन्तु ये बात पुस्तक में बताये शेयरों पर लागु नहीं हो सकती क्यों कि यहां सालाना उच्चतम व निम्नतम का अनुपात वैसे ही 2 या 2.5 से ज्यादा है। 
जैन इरीगेशन में जो दुबारा रिवर्स ट्रेडिंग की है वो गलत भी नहीं लग रही क्यों कि आप देख सकते हैं इसमें प्रमोटर्स की होल्डीगं भी कम हुयी है जो खतरे का सकेंत है। 
इस सप्ताह की ट्रेड बुक देखियेः- 

इस सप्ताह नये शेयरों में रेंक 4 के शेयर जयप्रकाश ऐसोसियेट के 357 शेयर 18.15 के भाव पर लिये हैं क्यों कि वो अपनी 200 डीएमए के 5 से 15 प्रतिशत के बीच में ट्रेड कर रहा था। इस सप्ताह मार्केट बंद होने के बाद 4 अक्टूम्बर 2017 को सांय 6 बजे सीमा की बैलेंस शीट का हाल देखियेः-

सोमवार, 2 अक्तूबर 2017

सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 14वां सप्ताह

इस भाग में आपको 21 सितम्बर से 27 सितम्बर तक की कहानी बतायी जायेगी दरअसल प्रत्येक बुधवार हमने शेयर लेने के लिये निर्धारित किया हुआ है तथा रविवार को कहानी ब्लोग पर अपडेट करने का शेड्यूल बनाया हुआ हैै। 
यदि आपने पहले भाग से इस कहानी को नहीं पढा है तो मेरा निवेदन है कि पहले भाग से पढना प्रारभं करें पहले भाग का लिंक हैः- 
इस सप्ताह 25 सितम्बर 2017 को हमें नेशनल फर्टिलाईजर को रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में बेचना पड़ा। 
मैं यहां ये भी जानता हुं कि मेरे फोलोवर्स को ये रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम बिल्कुल पंसद नहीं आ रहा क्यों कि मुझे रोज ऐसे ई मेल प्राप्त हो रहें हैं कि महेश सर आपने अपनी पहली पुस्तक में जो शोपकीपर अप्रोच बतायी थी हम तो उसी को फोलो करना चाहतें हैं हम शेयर को नुकसान में बेचना नहीं चाहते आपके रिवर्स ट्रेडिंस सिस्टम से हमें सिर्फ नुकसान हो रहा है। इससे पहले की मैं अपनी सफाई में कुछ कहुं मैं इस श्रखंला के आठवें भाग से रिवर्स ट्रेडिगं सिस्टम के बारे में कुछ तथ्य वापस उदृत कर रहा हुं ताकि जिन लोगों ने बार बार कहने के बावजुद इस श्रखंला के पहले भाग से नहीं पढा है या जो आठवें भाग की बातों को भुल गये हैं उनकी याद कुछ ताजा हो जाये।
 नियम के अनुसार जो भी शेयर उसकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत से ज्यादा नीचे बंद होने के कारण उसमें हमें रिवर्स ट्रेडींग सिस्टम करना था। अर्थात हम इस शेयर को एक बार बेच देगें और लोस बुक कर लेगें परन्तु ये नुकसान वास्तविक नुकसान नहीं है क्यों कि हम इस शेयर को लगातार वाॅच करेगें तथा शेयर जब भी वापस उपर बढकर उसकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत उपर बंद हो जाता है तो हम इसको वापस खरीद लेगें । 
ऐसा करने पर ज्यादातर शेयर हमें उस मूल्य से काफी कम पर मिल जाते हैं जिस मूल्य पर हमने शेयर बेचा था परन्तु यदि हमारा आकलन गलत साबित हो जाये व शेयर तेजी से वापस उपर बढ जाये तो हमें वापस उचें मूल्य पर भी खरीदना पड़ सकता है। 
ऐसा गलत आकलन आमतौर पर 20 शेयरों में से 5 शेयरों में होता है कि वो उनकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत से ज्यादा नीचे बंद हो जाने के बाद कम समय में वापस उनकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत उपर आकर बंद हो जाते है नही तो प्रतिभा इण्डस्ट्रीज का शेयर मैने एक साल पहले इस विधी से बेचा था आज तक वो उसकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत उपर बंद नहीं हुआ तथा 26 रूपये से गिरता हुआ आज 7.90 रूपये पर आ गया तथा उसकी 200 डीएमए भी घटते घटते 11.11 रूपये हो गयी तो आप समझ गये होगें अब यदि प्रतिभा उसकी 200 डीएमए के 5 प्रतिशत उपर बंद होता है तो ये 13 रूपये के आसपास होगा तथा ऐसी स्थिती में यदि प्रतिभा में वापस लुगां तो मुझे उलटा फायदा होगा ना कि नुकसान होगा क्यों कि मैने रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में 26 रूपये में बेचकर जो पैसा प्राप्त किया उसके आधे पैसों में मुझे उतने के उतने शेयर वापस मिल जायेगें। 
तो आप समझ गये होगें कि रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में 20 में से 5 शेयरों में हमारा आकलन गलत होने पर जब हम वो शेयर वापस लेते हैं तो हमें 600-700 का नुकसान होगा अन्यथा 20 में से 15 शेयरों गिरावट का दौर लम्बा चलता है और हमें चार फायदे होते हैंः- 
1. पहला पोर्टफोलयो में गिरता हुआ शेयर रखकर रोज खुन नहीं जलाना पड़ता। 
2. जो धनराशि वापस प्राप्त होती है उसको यदि हम बैंक के बचत खाते में भी रखते हैं तो हमें 3.5 प्रतिशत सालाना ब्याज मिलता है वैसे हम आईसीआईसीआई बैंक में ऐसी एफ.डी कराते हैं जो मासिक ब्याज देती है इसमें हमें 50000 की एफ डी पर प्रतिमाह 6.75 प्रतिशत की दर से लगभग 280 रूपये ब्याज मिलता है इसलिये अण्डर प्रफोर्म करने वोले शेयरों को होल्ड करने की जगह उनका बचा हुआ कैश होल्ड करना चाहिये जो कि कभी कभी प्रतिभा इण्डस्ट्रीज जैसे मामले में तो ब्याज से ही नुकसान की पूर्ति हो जाती है। 
3. वापस बढने पर हम खरीद कीमत से भी काफी कम कीमत पर शेयर वापस खरीद सकते हैं। 
4.  सबसे बड़ा फायदा होता है कि जब हम कोई शेयर एक साल से कम होल्ड करके बेचते हैं तो उसपे हमें 15 प्रतिशत इनकम टैक्स देना होता है परन्तु रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम में जो काल्पनिक नुकसान होता है उसको हम इस मुनाफे में से कम कर सकते हैं तथा शेष बचे हुये लाभ पर ही 15 प्रतिशत इनकम टैक्स भरना पड़ेगा। 
तो ये वो रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम की विशेषतायें थी जो आपने आठवें भाग में पढी थी अब आप लोगों के ई मेल पर मेरी सफाई सुन लिजियेः- 
दरअसल पिछले 14 सप्ताह में एक बार भी मार्केट में ढंग से गिरावट नहीं आयी है जो भी गिरावट आयी वो वास्तविक नहीं होने से हमें कम समय में ही रिवर्स ट्रेड किये हुये शेयरों जैसे जैन इरीगेशन को वापस खरीदना पड़ गया था उससे आप लोगों को लगा कि फालतु में नुकसान बुक करने का क्या फायदा हुआ क्यों ने शोपकीपर अप्रोच करके शेयरों को होल्ड ही रखा जाये? 
यद्पि आप यदि शोपकीपर अप्रोच की तरह शेयर होल्ड करके रखना चाहे तो रख भी सकते हैं। 

जिन्होने मेरी पहली पुस्तक में शोपकीपर अप्रोच नहीं पढी है वो ये विडीयो देख सकते हैंः- 
                                        
परन्तु यदि मार्केट में बड़ी गिरावट आ गयी और ये गिरावट दो तीन महिने तक चल गयी तब आपको रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम का वास्तविक महत्व समझ में आयेगा क्यों कि ऐसी स्थिति में शेयरों कि 200 डीएमए भी काफी नीचे आ जायेगी तथा जब भी हम शेयरों को 200 डीएमए से वापस 5 प्रतिशत उपर बंद होने पर खरीदेगें तब हमें बहुत जल्दी 20 प्रतिशत मुनाफा व हमारा नुकसान हमें वापस मिल जायेगा तथा हम बहुत जल्दी सभी रिवर्स ट्रेडिंग किये हूये शेयरों में 20 प्रतिशत मुनाफा बुक किये गये नुकसान की पूर्ति सहित वसूल कर लेगें वो भी उस प्राईस पर जब होल्ड करने वालों का मूल प्राईस भी वापस आना बाकी होगा। 
मैं वैसे अपने खुद के होल्ड शेयरों में आजकल रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम यूज नहीं करता क्यों कि मुझे मेरी रिसर्च पर विश्वास है तथा यदि शेयर 2-3 साल भी प्रफोर्म नहीं करता तो मुझे चिन्ता भी नहीं होती वैसे भी मैं एक साल होल्ड करने के बाद ही शेयर बेचता हुं आपको आश्चर्य होगा काम्पुकोम सोफटवेयर व बसन्त Agro के शेयर मेरे पोर्टफोलियो में आज भी है क्यों कि उनको अभी एक साल पुरा नहीं हुआ है। 
यहां सीमा की कहानी में भी जो शेयर बताये जाते हैं वो मेरी खुद की लिखी पुस्तक के शेयर हैं जो सब के सब ब्लू चिप व लार्ज कैप शेयर हैं इसलिये स्वभाविक है कि इनमें रिवर्स ट्रेडिंग सिस्टम नहीं भी करें तो चिन्ता की कोई बात नहीं परन्तु पुस्तक में छोटे निवेशकों के लिये जो नियम बताया गया था उसकी मर्यादा व ईमानदारी बनाये रखने के लिये मुझे भी यहां रिवर्स ट्रेडिंग करनी पड़ती है। 
तो इस ट्रेड बुक में देखिये नेशनल फर्टिलाईजर में की गयी रिवर्स ट्रेडिंगः- 

इस सप्ताह जो नया शेयर खरीदना था उसमें बड़ा भारी संशय पैदा हो गया क्यों कि रैंक 4 का शेयर जयप्रकाश ऐसासियेट की 200 डीएमए 15.59 से उसका 20 सितम्बर का बंद भाव 16.40 उससे 5.20 प्रतिशत उपर था परन्तु शेयर खरीदते समय शेयर का भाव 16.20 चल रहा था जो 200 डीएमए से मात्र 3.91 प्रतिशत ही उपर था इसलिये यदि सीमा 16.20 पर जयप्रकाश एसोसियेट के शेयर ले लेती तो नियम की मर्यादा भंग हो जाती इसलिये फिर उससे आगे के शेयरों की 200 डीएमए चैक करते करते रैंक 28 का शेयर सुप्रीम पेट्रोकैम मिला जो उसकी 200 डीएमए से 12.97 प्रतिशत उपर ट्रेड कर रहा था इसलिये इस सप्ताह सुप्रीम पैट्रोकेम के 18 शेयर 367.14 के भाव पर ले लिये इस ट्रेड बुक में देखियेः-

 इस सप्ताह कोई नयी धनराशि का निवेश नहीं करना पड़ा क्यों कि नेशनल फर्टिलाइजर की रिवर्स ट्रेडिंस से जो कैश मिला वो ही वापस काम में आ गया तो 27 सितम्बर 2017 को मार्केट बंद होने के बाद सीमा की बैलेसं शीट निम्न प्रकार से थीः-
Next:-

सीमा कौशिक के पोर्टफोलियो निमार्ण का 15 वां सप्ताह

Matched Content